मातृभाषा दिवस 2021

प्रतिवेदन
मातृ भाषा दिवस 2021
निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल।
बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।।
विविध कला शिक्षा अमित, ज्ञान अनेक प्रकार।
सब देसन से लै करहू, भाषा माहि प्रचार।।
भारतेंदु हरिश्चंद्र जी ने सही कहा है-निज यानी अपनी भाषा से ही उन्नति संभव है, क्योंकि यही सारी उन्नतियों का मूलाधार है।
मातृभाषा के ज्ञान के बिना हृदय की पीड़ा का निवारण संभव नहीं है।
विभिन्न प्रकार की कलाएँ, असीमित शिक्षा तथा अनेक प्रकार का ज्ञान,
सभी देशों से जरूर लेने चाहिये, परन्तु उनका प्रचार मातृभाषा के द्वारा ही करना चाहिये।
इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए हिंदी विभाग द्वारा 21/2//2021को मातृभाषा दिवस के अवसर पर विश्व विद्यालय की छात्राओं के मन में मातृभाषा के प्रति प्रेम जगाने व उन्हें जागरूक करने के उद्देश्य से तथा उन्हें मातृभाषा के माध्यम से अपने भावों की अभिव्यक्ति करने का अवसर प्रदान करने हेतु निम्नलिखित प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।
निबंध लेखन प्रतियोगिता
स्लोगन लेखन प्रतियोगिता
प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता
पोस्टर(हस्तनिर्मित) प्रतियोगिता
यह सभी प्रतियोगिताएं ऑनलाइन आयोजित की गई। प्रतियोगिताओं का विवरण इस प्रकार है-
निबंध लेखन प्रतियोगिता-
निबंध लेखन प्रतियोगिता के लिए प्रतिभागियों को निम्नलिखित दो विषय दिए गए थे-
मातृभाषा है हमारी संस्कृति की नींव हैं
एक भारत श्रेष्ठ भारत
इन में से किसी एक विषय पर अपने विचारों को व्यक्त करना था। इन विषयों के माध्यम से प्रतिभागियों ने भारतीय परंपराओं, धर्म, संस्कृति, तीज- त्योहार आदि विभिन्न पहलुओं का उदाहरण देते हुए उसमें भाषाओं के महत्व को उजागर करने का प्रयास अपने शब्दों के माध्यम से किया।
इस प्रतियोगिता के अंतर्गत प्रतिभागियों को अपनी हस्तलिखित प्रति का पीडीएफ बनाकर के दिए गए Google link पर दिनांक 20/2/21तक अपलोड करना था। इस प्रतियोगिता के अंतर्गत 8 प्रतिभागियों ने भाग लिया। इस प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका डॉ. नेहा सिंघी, सहायक आचार्य हिंदी विभाग ने निभाई ‌।
स्लोगन लेखन प्रतियोगिता -
इस प्रतियोगिता के अंतर्गत विद्यार्थियों को 'भारतीय मातृभाषाओं के महत्व का प्रदर्शन ' करते हुए स्लोगन लिखना था।इस प्रतियोगिता के अंतर्गत 7 प्रतिभागियों ने भाग लिया।
प्रतिभागियों ने बहुत ही सुंदर शब्दों में स्लोगन के माध्यम से मातृभाषा के महत्व को उजागर किया। इस प्रतियोगिता के अंतर्गत निर्णायक की भूमिका डॉ . नेहा सिंघी ने निभाई।
प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता-
इस प्रतियोगिता का आयोजन दिनांक 22/2/21 को किया गया।दोपहर 12:00 बजे प्रतिभागियों के पास माइक्रोसॉफ्ट टीम का मीटिंग लिंक प्रेषित किया गया। मीटिंग से जुड़ने के पश्चात उन्हें भारत की विभिन्न क्षेत्रीय भाषाओं और सभ्यता और संस्कृति पर आधारित प्रश्नोत्तरी का लिंक प्रेषित किया गया।लिंक प्रेषित करने के पश्चात प्रतिभागियों को 5 मिनट का समय दिया गया उन प्रश्नों को हल करने के लिए। इस प्रतियोगिता के अंतर्गत 5 प्रतिभागियों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया। निर्णायक की भूमिका डॉ . नेहा सिंघी ने निभाई।
पोस्टर (हस्तनिर्मित) प्रतियोगिता-
इस प्रतियोगिता के अंतर्गत प्रतिभागियों को 'भारत के किसी भी राज्य या क्षेत्र की सभ्यता एवं संस्कृति की झलक' को दिखाते हुए पोस्टर बनाना था। प्रतिभागियों ने बहुत ही सुंदर तरीके से राजस्थान -गुजरात आदि विभिन्न क्षेत्रों की की सभ्यता और संस्कृति को पोस्टर के माध्यम से हमारे सामने रखने की कोशिश की। प्रतिभागियों ने अपने हाथ से पोस्टर बनाकर के उसका पीडीएफ Google formपर अपलोड कर दिया था। इस प्रतियोगिता के अंतर्गत निर्णायक की भूमिका डॉ उज्जवला तिवारी विभागाध्यक्ष fine art ने निभाई।
प्रतियोगिताओं के परिणाम इस प्रकार रहे-

प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता -
प्रथम स्थान-हर्षिता शर्मा -ICG/2018/25243 बी.ए.- सेम 6
द्वितीय स्थान-सजल गोयल, IISU/2019/ADM/30060- बी.एस.सी.-सेम 4
निबंध लेखन प्रतियोगिता
प्रथम स्थान-मुस्कान अग्रवाल -ICG/2018/25395, बी. काॅम(ऑनर्स) ,सेम-5
द्वितीय स्थान- हिमांशी वर्मा IISU/2020/ADM/31480, B.A(P) ,सेम 1
स्लोगन लेखन प्रतियोगिता
प्रथम स्थान-मीना चक्रवर्ती ,IISU/2020/ADM/27186 -सेम1
द्वितीय स्थान-निशु शर्मा-ICG/2018/25197,बी.जेएमसी