प्रेमचन्द जयन्ती

प्रतिवेदन
’प्रेमचन्द जयन्ती’
कहानी लेखन व प्रेमचन्द प्रश्नोत्तरी

’’मैं एक मजदूर हूँ। जिस दिन कुछ लिख न लूँ, उस दिन मुझे रोटी खाने का कोई हक नहीं।’’

इस तरह के विचार रखने वाले उपन्यास सम्राट प्रेमचंद की याद में आई आई एस (डीम्ड टू बी  यूनिवर्सिटी)के हिंदी विभाग द्वारा 31 जुलाई 2019 को प्रेमचंद जयंती के अवसर पर कहानी लेखन व प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। कहानी लेखन प्रतियोगिता कमरा नंबर डी 601 में समय दोपहर 1:00 से 1:45 तक आयोजित की गई। इस प्रतियोगिता के अंतर्गत प्रतिभागियों के सामने विभिन्न भावों को व्यक्त करने वाले  निम्न चार फोटो लगा दिए गए-

 

 

इन को देखते हुए प्रतिभागियों ने जादूई कूंआ, जीवन में पिता की भूमिका, समाज में स्त्री की वास्तविक स्थिति और भविष्य में कल्पनाओं की उड़ान आदि अनेक विषयों का चयन करते हुए अपनी भावनाओं व कल्पनाओं को साकार रूप प्रदान किया। इसमें 15 विद्यार्थियों ने भाग लिया।

इसी क्रम में आगे प्रेमचंद के जीवन पर आधारित एक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया जिसमें प्रेमचंद के व्यक्तित्व एवं कृतित्व से जुड़ी हुई सामान्य जानकारियों पर आधारित प्रश्न पूछे गएइन दोनों ही प्रतियोगिताओं का मूल्यांकन डॉ नेहा सिंघी, सहायक आचार्य हिंदी विभाग द्वारा किया गया। इन दोनों ही प्रतियोगिताओं में विद्यार्थियों ने बहुत ही उत्साह के साथ भाग लिया और अपने रचना कौशल का परिचय दियाआयोजित प्रतियोगिताओं के परिणाम इस प्रकार है-                                                                  कहानी लेखन प्रतियोगिता का परिणाम इस प्रकार रहा-
प्रथम-     आयुषी खण्डेलवाल, एमबीए, सेमेस्टर प्रथम
द्वितीय-    जयाराय सिंघानी, बी.एससी. ऑनर्स, सेमेस्टर प्रथम
तृतीय-    इषिका वर्मा, बी.कॉम. ऑनर्स, सेमेस्टर प्रथम

प्रेमचन्द प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का परिणाम इस प्रकार रहा-
प्रथम-     सिमरन गुप्ता, बीएफए, सेमेस्टर प्रथम
द्वितीय-    जयाराय सिंघानी, बी.एससी. ऑनर्स, सेमेस्टर प्रथम
तृतीय-    शोभना राठौड़, बी.ए., सेमेस्टर प्रथम